Menu
Cart 0

किसी की बातों में आकर लोकल इलेक्ट्रॉनिक सामान कभी न ख्ारीदें!

Posted by Luminous eShop on

Inverter Battery

मेट्रो सिटीज में रहने वाले हों या आम शहर में, पावर कट की समस्या से हर कोई जूझ रहा है। यह ऐसी समस्या है जिसे नजरअंदाज करना बिलकुल भी मुमकिन नहीं है। कई जगह तो पावरकट की दिक्कत इतनी ज्यादा है कि बिना किसी बैकअप प्लैन के वहां के लोगों का गुजारा ही नहीं हो सकता। ऐसे में हर घर में इनवर्टर होना बेहद जरूरी व आम है।

 कोई भी इलेक्ट्रॉनिक सामान हो, उसकी सही देखभाल के लिए बहुत सजग और सतर्क रहना पडता है। जरा सी भी लापरवाही कभी-कभी बहुत भारी पड जाती है। अगर इनवर्टर की मेंटेनेंस पर ध्यान न दिया जाए तो वह ख्ातरनाक भी साबित हो सकता है। जानते हैं कि इनवर्टर व उसकी बैटरी की सही मेंटेनेंस के लिए क्या सावधानी बरतने की जरूरत होती है-

 -किसी की बातों में आकर लोकल इलेक्ट्रॉनिक सामान कभी न ख्ारीदें। इसलिए इनवर्टर व बैटरी भी ब्रैंडेड ही ख्ारीदें।

 -इनवर्टर के हाईचार्ज होने पर बैटरी फटने की आशंका रहती है। पावर कट न होने की स्थिति में महीने में एक बार बैटरी को पूरा डिस्चार्ज करने के बाद फिर चार्ज करें।

 -कोई भी ज्वलनशील पदार्थ, मोमबत्ती या सिगरेट को उसके पास न रखें। आग लगने का ख्ातरा रहता है।

 -इनवर्टर को घर के खुले व हवादार हिस्से में ही रखें। चार्ज करते वक्त बैटरी काफी गर्म हो जाती है। गर्मी ज्यादा होने पर ध्यान दें कि उस पर धूप न पडे।

 -हर दो महीने में बैटरी के पानी का लेवल जांचते रहें। उसमें हमेशा डिस्टिल्ड पानी ही भरें। नल व बारिश के पानी में मिनरल्स की अधिकता होती है, इसलिए उसके प्रयोग से बचना चाहिए।

 -जहां भी आपने इनवर्टर व बैटरी रखा हो, उस जगह को हमेशा साफ रखें। वहां बिलकुल भी धूल नहीं होनी चाहिए। कॉटन के कपडे से उसके आसपास की जगह को साफ करते रहें।

 -बैटरी के डेड या ख्ाराब हो जाने की स्थिति में उसे तुरंत बदलवा लें।

 -ऐसे इलेक्ट्रॉनिक सामानों को बच्चों की पहुंच से भी बहुत दूर रखें।

 -बैटरी कभी भी लोकल चार्जर से चार्ज न करें और किसी भी तरह की दिक्कत लगने पर तुरंत स्विच ऑफ कर दें। उसके बाद भी कोई समस्या महसूस हो तो इलेक्ट्रीशियन से उसकी जांच करवा लें।

 इनवर्टर के अलावा और भी जो इलेक्ट्रॉनिक सामान होते हैं, जैसे कि फ्रिज, एसी, मोबाइल आदि, उनकी देखभाल में भी सावधानी बरतनी चाहिए। थोडी सी भी लापरवाही या नासमझी से बडा नुकसान हो सकता है। उनके इस्तेमाल के लिए जो भी दिशा-निर्देश दिए गए हों, उनका सही से पालन किया जाना चाहिए।

 


Share this post



← Older Post Newer Post →